Skip to main content

Posts

Showing posts with the label राज्य

भाजपा विधायक ने उठाये अपनी ही सरकार पर सवाल

देहरादून ।। (यशपाल) उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सरकार अपने ही दल के विधायक के निशाने पर आ गयी है। काशीपुर विधायक हरभजन सिंह चीमा ने राज्य में आयुष्मान योजना पर सवाल उठाते हुए इसे पूरी तरह विफल बताया। उन्होंने प्रेस वार्ता कर बताया कि इस योजना का लाभ गरीबो को नही दिया जा रहा है और सरकार कुछ नही कर रही है। कई अन्य राज्यों का उदाहरण देते हुए चीमा ने कहा कि दूसरे राज्यों में आयुष्मान योजना के तहत जितना बजट खर्च किया गया है उत्तराखंड में उसका 10 फीसदी ही खर्च हुआ है। ये इस बात का संकेत है कि राज्य सरकार प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट को लेकर कितनी उदासीन है। भाजपा विधायक ने कई अन्य विषयों को लेकर भी सरकार पर हमला बोला। दरअसल चीमा अपनी उपेक्षा को लेकर सरकार से नाराज बताए जा रहे हैं। हालांकि जानकार, हरभजन सिंह के इस बयान को कैबिनेट की खाली कुर्सी को लेकर दबाव की राजनीति भी कह रहे हैं।  

उत्तराखंड के चम्पावत में आया भूकंप, नेपाल में रहा केंद्र

देहरादून।। भारतीय समयानुसार शाम 7 बजे उत्तराखंड में भूकंप के झटके महसूस किए गए। इससे घबराकर लोग घरों से बाहर निकल आए। प्राप्त जानकारी के अनुसार भारत में भूकंप चम्पावत जिले और उसके आसपास के इलाकों में महसूस हुआ। वहीं इसका केंद्र नेपाल में बताया जा रहा है जहां इसकी तीव्रता 5.3 रही।

टीएचडीसी को बेचने के खिलाफ उपवास करेंगे हरीश रावत

केंद्र ने अपनी हिस्सेदारी बेचने का लिया है निर्णय देहरादून (एक्सप्रेस ब्यूरो)।।  पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने केंद्र सरकार द्वारा टीएचडीसी में अपनी हिस्सेदारी बेचने के निर्णय का विरोध किया है। इसके लिए रावत पूर्व प्रधानमंत्री पं जवाहरलाल नेहरू की 131 वीं जयंती पर 14 नवंबर को ऋषिकेश स्थित टीएचडीसी मुख्यालय पर 10:30 बजे सांकेतिक उपवास करेंगे। ये जानकारी देते हुए प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष व हरीश रावत के सहयोगी जोत सिंह बिष्ट ने बताया कि केंद्र सरकार उत्तराखंड की संपत्तियां बेच रही है। उन्होंने कहा कि रावत उत्तराखंडियत बचाने की लड़ाई लड़ रहे हैं। बिष्ट ने सभी से इस उपवास में सम्मिलित होने का आवाह्न किया है।

राज्य को मिलेगा एक नया रेलवे स्टेशन, नाम को मिली मंजूरी

ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेलमार्ग पर बनेगा नया स्टेशन ऋषिकेश (एक्सप्रेस ब्यूरो) बहुत जल्द राज्य को एक नया रेलवे स्टेशन मिलने जा रहा है। रेलवे ने इसके नाम को भी स्वीकृति दे दी है, इससे पूर्व इसके लिए सर्वे भी किया गया था। दरअसल, राज्य की  बहुप्रतीक्षित रेल परियोजना ऋषिकेश-कर्णप्रयाग के तहत खंड गांव और पुरानी वन चौकी के बीच एक नया रेलवे स्टेशन बन रहा है। इसके नामकारण को लेकर ऋषिकेश नगर निगम के एमएनए ने जुलाई 2019 में रेलवे को पत्र लिखकर इस प्रस्तावित स्टेशन का नाम "योग नगरी ऋषिकेश" रखने का प्रस्ताव दिया था। इसके बाद रेलवे विभाग ने सर्वेयर जनरल ऑफ इंडिया से इसका सर्वे कराया था। अब रेलवे के मुरादाबाद मंडल के वरिष्ठ वाणिज्यिक प्रबंधक ने पत्र लिखकर इस नाम की अनुमति मिलने की जानकारी दी है। 

कांग्रेसी नेता के निधन पर इस प्रदेश के राज्यपाल ने जारी किया शोक संदेश

कोश्यारी ने कांग्रेसी नेता पांडेय के निधन पर जताया शोक हरिद्वार।।  राज्य आंदोलनकारी व वरिष्ठ कांग्रेसी नेता जे पी पांडेय का कल रात एक विवाह समारोह में जाते वक्त सड़क दुर्घटना में निधन हो गया था। इस घटना को सुनकर हर कोई स्तब्ध है और श्री पांडेय द्वारा किये गए सामाजिक राजनैतिक कार्यों की चर्चा कर रहा है। आज दोपहर में कनखल स्थित शमशान घाट पर श्री पांडेय का अंतिम संस्कार किया गया। विभिन्न नेताओं, पत्रकारों, राज्य आंदोलनकारियों ने उनके निधन पर दुख जताया है। इस बीच महाराष्ट्र की सियासी सरगर्मी के बावजूद वहां के राज्यपाल और उत्तराखंड के दिग्गज भाजपाई रहे भगत सिंह कोशियारी ने भी श्री पांडेय को श्रद्धांजलि दी है।

कांग्रेस आलाकमान ने लगाई मोहर, प्रीतम और इंदिरा की होगी छुट्टी, ये बनेंगे नेता प्रतिपक्ष

गढ़वाल के किसी ब्राह्मण नेता को मिल सकती है अध्यक्ष की कमान देहरादून (एक्सप्रेस ब्यूरो) ll प्रदेश कांग्रेस में एक बार फिर बदलाव के संकेत मिल रहे हैं। दिल्ली की एक बड़ी न्यूज़ एजेंसी ने कांग्रेस आलाकमान के सूत्रों से उत्तराखंड कांग्रेस को लेकर एक खबर जारी की है। इसमें बताया गया है कि हरियाणा और महाराष्ट्र परिणामों से उत्साहित कांग्रेस का नेतृत्व जल्द ही उत्तराखंड में संगठन और विधायक दल में परिवर्तन करने जा रहा है। इसके लिए उच्च स्तर पर चर्चा पूर्ण हो चुकी है।  इस खबर के मुताबिक नेता प्रतिपक्ष डॉ इंदिरा हृदयेश की कुर्सी जानी तय है। उनके स्थान पर पूर्व विधान सभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल को नेता प्रतिपक्ष बनाया जा सकता है। वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह की विदाई का मन भी पार्टी हाईकमान ने बना लिया है। उनकी जगह गढ़वाल मंडल से किसी ब्राह्मण नेता को अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी जा सकती है। दरअसल, इंदिरा और प्रीतम सिंह प्रदेश में कांग्रेस को मजबूत बनाने में पूरी तरह नाकाम रहे हैं। एक तरफ जहां प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ कई मुद्दे होने के बावजूद इंदिरा हृदयेश मुखर आवाज़ नही उठा पायी