Skip to main content

Posts

Showing posts with the label राज्य

उत्तराखंड में 1391 कोरोना संक्रमित, 9 की मौत

उत्तराखंड में आज एक बार फिर बड़ी संख्या में कोरोना मरीज मिलने से सरकार की चिंता बढ़ गई है। तमाम प्रयासों के बाद भी संक्रमण रुकने का नाम नही ले रहा है। राज्य में आज 1391 नए संक्रमित मिलने के बाद यहां का कुल आंकड़ा बढ़कर 34407 तक पहुंच गया। वहीं इलाज के दौरान राज्य के विभिन्न अस्पतालों में 9 मरीजों ने दम तोड़ दिया। आज नए सामने आए मामलों में चमोली जिले में 7, चंपावत में 23, देहरादून में 421, हरिद्वार में 219, नैनीताल में 226, पौड़ी में 38, पिथौरागढ़ में 30, रुद्रप्रयाग में 27, टिहरी में 31, उधमसिंहनगर में 318 तथा उत्तरकाशी जिले में 51 मरीज मिले हैं। वही इलाज के बाद ठीक होने वालों की संख्या आज 1008 रही। इसके साथ ही 12611 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट आनी अभी बाकी है। प्रदेश में जिन 9 लोगों की इलाज के दौरान मौत हुई उनमें से 4 लोगों का निधन एम्स ऋषिकेश में, तीन का दून मेडिकल कॉलेज देहरादून तथा दो का डॉ सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी में हुआ है।

बिना अनुमति गणेश विसर्जन का जुलूस निकालने पर मुकदमा दर्ज

कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच पुलिस प्रशासन संक्रमण के विस्तार को रोकने के लिए पूरी तरह चौकन्ना बना हुआ है। इसके लिए जहां पुलिस सामाजिक दूरी का पालन करा रही है वहीं मास्क न पहनने वालों से भी सख्ती से निपट रही है। इसके बावजूद कुछ लोग संक्रमण काल को हल्के में लेकर भीड़ जुटने वाले आयोजन करने से बाज़ नही आ रहे हैं। कल ऐसा ही एक वाक्या ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र में घटित हुआ जहां लोगों ने बिना अनुमति गणपति विसर्जन का जुलूस निकाला। कोतवाली पुलिस ने आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत लोधमण्डी ज्वालापुर निवासी बिट्टू सागर पुत्र श्यामलाल व 10-15 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

राज्य में 535 और कोरोना संक्रमित, कहाँ मिले कितने मरीज़-पढ़ें

राज्य में कोरोना के 535 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद कुल संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 16569 तक पहुंच गया है। इसके अलावा राज्य के विभिन्न अस्पतालों में छह कोरोना मरीजों की मौत भी हुई है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार आज नए मिले मामलों में बागेश्वर जिले के 13, चमोली के 22, चंपावत के 20, देहरादून के 170, हरिद्वार के 80, नैनीताल के 81, पौड़ी के 25, पिथौरागढ़ के 7, रुद्रप्रयाग के 2, टिहरी के 36, उधमसिंह नगर के 64 तथा उत्तरकाशी जिले के 15 मरीज शामिल हैं। वहीं राज्य में जिन 6 लोगों की मौत हुई है उनमें चार की मौत एम्स ऋषिकेश में तथा दो की डॉ सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी में हुई है।इसके अलावा राज्य से अब तक जांच हेतु लिए गए सैंपल में से 14882 लोगों की रिपोर्ट आनी बाकी है। अच्छी बात यह है कि इलाज के बाद आज 323 कोरोना मरीज स्वस्थ होकर अस्पताल से डिस्चार्ज भी हुए हैं।

लॉक डाउन से तीर्थ पुरोहितों व कथा व्यासों की आजीविका पर हुआ असर, सरकार दे राहत पैकेज

पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने धार्मिक कर्मकांडों, कथा वाचकों, कथा व्यासों, तीर्थ पुरोहितों आदि की लॉकडाउन से हुई गम्भीर आर्थिक हालात पर चिंता व्यक्त की है। उपाध्याय ने कहा कि उन्होंने आज हरिद्वार, बनारस, देव प्रयाग, पुष्कर, उज्जैन, रामेश्वरम आदि तीर्थ स्थानों के पुरोहितों से बात की है। कई लोग जिनका परिवार यजमानों के पूजा कार्य से चलता है, उनके परिवार बेहद मुश्किल आर्थिक हालात से गुज़र रहे हैं। उन्होंने कहा कि नवरात्री में भगवती पूजा और चण्डीपाठ से ये ब्राह्मणजन अपने परिवारों के लिए कई महीनो का खर्च निकाल लेते थे, लेकिन इस बार लॉकडाउन के चलते वह भी सम्भव नहीं हो पाया। किशोर ने कहा कि मंदिरों के कपाट बंद होने के कारण वहाँ के पुजारियों के सामने भी अपने परिवारों की आजीविका का संकट पैदा हो गया है। यात्री न आने से तीर्थ पुरोहितों को भी बहुत आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। कथाव्यासों की भी यही स्थिति है। इन पुनीत कार्यों में विप्र वर्ग के साथ जुड़े टेंट, साउंड, भण्डारी-रसोईया आदि लोगो की भी आर्थिक स्थिति ख़राब हो गई है। उन्होंने कहा कि ये यात्रा सीजन है, हाल ही में गुजरात क

कुम्भ को लेकर हुई बैठक में बिफरी अखाड़ा परिषद, मुख्यमंत्री को सुनाई ख़री-ख़री

हरिद्वार। कुम्भ 2021 को लेकर आज मुख्यमंत्री के साथ हुई अखाड़ा परिषद की बैठक में संतो ने खूब खरी खोटी सुनाई। परिषद के पाधिकारियों ने कुम्भ की तैयारियों को लेकर सरकार व मेला प्रशासन पर उदासीनता बरतने का आरोप लगाया। हरिद्वार में अगले वर्ष होने वाले कुम्भ मेले की तैयारियां अभी तक शुरू नही हुई है। इसको लेकर सरकार पर लगातार आरोप लगते रहे हैं। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी कई बार अपनी नाराज़गी जता चुके हैं। मेले के आयोजन के लिए अखाड़ा परिषद के साथ विचार विमर्श करने व तैयारियों का जायजा लेने हेतु आज मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गयी थी। बैठक में पहले तो अखाड़ा परिषद के संतो ने मुख्यमंत्री को एक घंटे इंतज़ार कराया, और जब अखाड़ों के प्रतिनिधि बैठक में पहुंचे तो उन्होंने मुख्यमंत्री व शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक पर कुम्भ आयोजन को लेकर उदासीनता बरतने का आरोप लगाया। अखाड़ों के संतो ने कुम्भ मेला प्रशासन द्वारा परिषद की और से दिए गए प्रस्तावों पर काम न करने की शिकायत भी मुख्यमंत्री से की। अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने अखाड़ों में सुरक्षा, जमीनों पर से

धामी के बाद कांग्रेस के दो और विधायक मुखर, हरिद्वार में नाराज़ नेताओं के साथ की बैठक

हरिद्वार। हरिद्वार कांग्रेस में सब कुछ ठीक नही चल रहा है। प्रदेश नेतृत्व और हरिद्वार के एक कांग्रेस नेता के खिलाफ आज एक बैठक सलेमपुर में आयोजित की गयी। इसमे पार्टी के एक विधायक, पूर्व जिलाध्यक्ष, कई पूर्व दर्जाधारी, प्रदेश कांग्रेस के वर्तमान व पूर्व के पदाधिकारी, जिला पंचायत सदस्य, ब्लॉक प्रमुख, विधानसभा चुनाव लड़े नेताओं सहित सैकड़ों नेता शामिल हुए। सूत्रों के अनुसार जिले की एक अन्य विधायक ने भी बैठक को मोबाइल के माध्यम से संबोधित किया। बैठक में सभी नेताओं ने प्रदेश अध्यक्ष के खास माने जाने वाले नेता की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाये। जानकारी के अनुसार हरिद्वार के नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल विधायकों के नेतृत्व में प्रदेश प्रभारी से मिलेगा।

हरिद्वार कांग्रेस में बवाल, जिले के दिग्गज कांग्रेसियों ने बुलाई आपात बैठक

हरिद्वार (यश पाल)। प्रदेश कांग्रेस की कार्यकारिणी घोषित होने के बाद पार्टी में बवाल थमने का नाम नही ले रहा है। धारचूला से विधायक हरीश धामी की सुलगाई चिंगारी से उपजी लपटे अब हरिद्वार पहुंचती दिखाई दे रही हैं। कार्यकारिणी में शामिल नही किये गए ज़िले के 5 दर्ज़न दिग्गज शनिवार को एक बैठक करने जा रहे हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हरिद्वार के अधिकांश कांग्रेसी प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के खासमखास समझे जाने वाले एक पूर्व दर्जाधारी से खासे खफा है। बताया जा रहा है कि उक्त कांग्रेसी ने जनपद में पार्टी को अपना जेबी संगठन बना लिया है। इससे पार्टी के कार्यकर्ताओं में असंतोष बढ़ता जा रहा है। एक नेता ने नाम न छापने की शर्त पर बताया की बार बार प्रदेश नेतृत्व से शिकायत के बावज़ूद कार्यकर्त्ताओं की अनदेखी की जा रही है। इसीलिए आगे की रणनीति बनाने के लिए कल दोपहर को जिला पंचायत के एक बड़े नेता के घर बैठक रखी गयी है। बहरहाल जनपद में पार्टी की क्या स्थिति रहेगी ये तो आने वाला वक्त ही बतायेगा लेकिन इतना तय है की प्रीतम गुट पर इस वक़्त खतरे के बादल मंडरा रहे हैं।

राज्य में दो जिलाधिकारियों के तबादले, सी रविशंकर होंगे हरिद्वार के नए DM

देहरादून। प्रदेश के दो महत्वपूर्ण जनपदों के जिलाधिकारियों को शासन ने बदल दिया है। हरिद्वार के जिलाधिकारी दीपेंद्र चौधरी के स्थान पर देहरादून के जिलाधिकारी सी रविशंकर को हरिद्वार की कमान सौंपी गई है। वहीं मुख्यमंत्री के अपर सचिव आशीष कुमार श्रीवास्तव को देहरादून का नया जिलाधिकारी बनाया गया है। अब तक हरिद्वार के जिलाधिकारी रहे दीपेंद्र कुमार चौधरी को प्रतीक्षा सूची में रखा गया है।

कार्यकारिणी घोषित होते ही कांग्रेस में बगावत, इस विधायक ने दी पार्टी छोड़ने की धमकी, पार्टी पद से इस्तीफा

देहरादून। प्रदेश कांग्रेस की बहुप्रतीक्षित कार्यकारिणी घोषित होते ही कांग्रेस में बगावत शुरू हो गयी है। धारचूला विधायक हरीश धामी ने सचिव बनाये जाने पर इसे खुद का अपमान बताते हुए जल्द ही पार्टी छोड़ने की घोषणा कर दी है। उधर कई दिग्गज नेता कार्यकारिणी को असंतुलित बता सोशल मीडिया पर अपनी नाराजगी जता रहे हैं।

Breaking-: आज फिर बदलेगा का मौसम का मिजाज, राज्य में बर्फबारी और बारिश के आसार

देहरादून। मौसम विभाग ने अलर्ट जारी कर राज्य के ऊंचाई वाले इलाकों में अगले 24 घंटो में बर्फबारी होने की संभावना जताई है। रिपोर्ट के अनुसार चमोली, उत्तरकाशी, जोशीमठ, रुद्रप्रयाग, पिथौरागढ़, बद्री-केदार के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हो सकती है, वहीं निचले इलाकों में बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार आज मैदानी इलाकों में घना कोहरा छाया रहेगा।

किशोर की मुहीम को मिला समर्थन, व्यापारियों ने भी मांगा निशुल्क बिजली-पानी

हरिद्वार। वनाधिकार आंदोलन के संयोजक किशोर उपाध्याय लंबे समय से प्रदेशवासियों को 200 यूनिट बिजली व पानी निशुल्क देने की मांग कर रहे हैं। इसके साथ ही 9 बिंदुओं के मांग पत्र के साथ वो राज्यवासियों के हक-हकूकों की लड़ाई लड़ रहे हैं। किशोर को इन मुद्दों पर जनसमर्थन भी मिलना शुरू हो गया है। ताज़ा मामला हरिद्वार से सामने आया है जहां बिजली पानी के मुद्दों पर महानगर व्यापार मंडल के अध्यक्ष सुनील सेठी ने प्रशासन को ज्ञापन सौंपकर 200 यूनिट बिजली व पानी निशुल्क देने की मांग की है। दरअसल, वनाधिकार आंदोलन के बैनर तले चल रहे इस अभियान में लोग रुचि ले रहे हैं। इस विषय पर किशोर उपाध्याय ने कहा कि हम लोगों के मौलिक अधिकारों की आवाज़ उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब दिल्ली जैसा राज्य उत्तराखंड से बिजली पानी खरीदकर दिल्ली वासियों को मुफ्त दे सकता है तो उत्तराखंड तो बिजली पानी का उत्पादक राज्य है, यहां तो सरकार को इसका कोई दाम नही लेना चाहिए। आंदोलन के हरिद्वार महानगर अध्यक्ष विभाष मिश्रा ने भी समर्थन के लिए व्यापारियों का आभार प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि ये जनता की लड़ाई है, इसको सब मिलकर लड़ेंगे।

गुलदार ने फिर दी दस्तक, अब इस क्षेत्र में हुआ सक्रिय

हरिद्वार। आदमखोर के खात्मे के बाद एक बार फिर गुलदार ने दस्तक दी है। इस बार गुलदार ने बिलकेश्वर रोड पर निर्मल अखाड़े की छावनी में एक पालतू कुत्ते को अपना शिकार बनाया। आपको बता दें की घटना स्थल से कुछ ही दूरी पर वन विभाग का दफ्तर स्थित है। अखाड़े के महंत सतनाम सिंह ने बताया की शाम होते ही गुलदार छावनी में घुस जाता है और पालतू जानवरों को अपना शिकार बनाता है। उन्होंने कहा की इस घटना से अखाड़े में रहने वाले संतो में दहशत है। उन्होंने वन विभाग से इस क्षेत्र में गश्त करने की मांग की है।

गुलदार के आतंक का हुआ अंत, आदमखोर को शिकारियों ने किया ढेर

हरिद्वार। वन विभाग और पेशेवर शिकारियों के संयुक्त प्रयास से आज देर शाम भेल के केंद्रीय विद्यालय के पास आदमखोर गुलदार को मार दिया गया। बता दे कि आज सुबह से ही शिकारियों की टीम भेल के जंगलों में आदमखोर गुलदार को ढूंढने निकली थी। शाम के समय एक टीम को गुलदार दिख भी गया था लेकिन सामने एक वाहन आने के कारण उसको शूट नही किया जा सका था। वहीं इसके उपरांत इलाके की सघन जांच के बाद देर शाम गुलदार को शूट कर उसके आतंक से क्षेत्र वासियों को मुक्त कराया गया।

आदमखोर गुलदार के आतंक का होगा अंत, राज्यभर के शिकारी बुलाये गए

हरिद्वार। खौफ का पर्याय बने आदमखोर गुलदार के शिकार के लिए पेशेवर शिकारी हरिद्वार पहुंच गए हैं। ज्ञात हो की भेल क्षेत्र में लोगों को शिकार बना रहे गुलदार को बीते दिनों वन विभाग ने आदमखोर घोषित किया था। इससे पहले गुलदार तीन लोगों सहित दर्ज़नो जानवरों को अपना निवाला बना चुका है। इन घटनाओं से पूरे इलाके में दहशत व्याप्त है। गुलदार का शिकार करने को विभाग ने राज्यभर के पेशेवर शिकारियों को बुला लिया है। शिकारियों ने भेल से लेकर रोशनाबाद तक की कुछ जगहों को चिन्हित कर तैयारियों कर ली हैं। वन विभाग की कोशिश है की जल्द से जल्द नरभक्षी गुलदार से लोगो को राहत दिलाई जाए।

दिव्यांग बच्चों की शिक्षा और स्वास्थ्य के लिए विशेष व्यवस्था करेगा व्योम फाउंडेशन

हरिद्वार। व्योम फाउंडेशन द्वारा आज प्रतिभाशाली दिव्यांग बच्चों को पुरस्कृत किया गया। विभिन्न सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग करने वाले बच्चों को पुरस्कार देते हुए महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष डॉ संतोष चौहान व कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष अंशुल श्री कुंज ने कहा की नर सेवा ही नारायण सेवा है। उन्होंने कहा की बच्चे ईश्वर का रूप हैं, किसी भी रूप में उनकी सेवा ईश्वरीय उपासना के समकक्ष है। व्योम फाउंडेशन दिव्यांग बच्चों के शारीरिक व शैक्षिक विकास के लिए जो कार्य कर रहा है वो वंदनीय है। श्री राम नाम विश्व बैंक के महामंत्री सुमित तिवारी व अखिलेश दुबे ने कहा की बच्चे देश व समाज का भविष्य हैं। दिव्यांग बच्चों की आंखों में भी कुछ हासिल करने की उमंग और सपने हैं। आवश्यकता है समाज उनके सपनो को पूरा करने की जिम्मेदारी ले। व्योम फाउंडेशन की अध्यक्ष रश्मि मिश्रा ने कहा की विशेष बच्चों के लिए स्थापित संस्था का मकसद आसपास के दिव्यांग बच्चों को इलाज और शिक्षा की विशेष और बेहतर सुविधा उपलब्ध करना है। इस अवसर पर संस्था के उपाध्यक्ष विभाष मिश्र, महामंत्री कामिनी शर्मा, प्रदीप पाल, रजनी पाल, नितिन कौशिक,

बंशीधर बने भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष, लंबी जद्दोजहद के बाद मिली कमान

देहरादून। लंबी चुनावी प्रक्रिया के बाद आखिरकार भाजपा को नया प्रदेश अध्यक्ष मिल ही गया। पार्टी ने 6 बार के विधायक बंशीधर भगत को कमान सौंपी है। भगत भाजपा के दिग्गज नेता हैं जो उत्तर प्रदेश और बाद में उत्तराखण्ड में भी मंत्री रह चुके हैं। पार्टी ने उनको कमान सौंपकर 2022 के चुनावों में पार्टी को जीत दिलाने की जिम्मेदारी दी हैं।

बढ़ती ठंड पर डीएम का आदेश, कल स्कूलों में छुट्टी का ऐलान

हरिद्वार। बढ़ती ठंड व मौसम विभाग द्वारा जारी पूर्वानुमान के चलते जिलाधिकारी ने कल 20 दिसंबर 2019 को कक्षा 01 से 12 तक के हरिद्वार के सभी शासकीय अशासकीय विद्यालयों/आँगनबाड़ी केन्द्रों में अवकाश घोषित कर दिया है।

बड़ी खबर :- प्रीतम ने की रावत की शिकायत, नाराज़ सोनिया के कड़े तेवर

देहरादून। (यशपाल) उत्तराखंड कांग्रेस में कुछ भी सामान्य नहीं है। यहां व्याप्त सन्नाटा किसी भीषण तूफान की आहट है। प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने भले ही पुरानी कमेटी भंग कर नई कार्यकारिणी बनाने के संकेत दिए हों, लेकिन दिल्ली से मिल रही खबरों पर यदि यकीन करें तो यह सब इतना आसान नहीं लगता जितना प्रीतम खेमा दिखा रहा है। दरअसल, कांग्रेस सूत्रों के अनुसार भारत बचाओ रैली के लिए दिल्ली गए प्रीतम सिंह ने नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश व प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह के साथ पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। इस दौरान प्रीतम ने सोनिया से राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री व राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत की जमकर शिकायत की। उन्होंने हरीश रावत द्वारा राज्य में पार्टी के समानांतर कार्य करने के आरोप लगाए तथा यहां तक कहा कि राज्य में पार्टी थराली व पिथौरागढ़ विधानसभा उपचुनावों सहित पंचायत चुनावों में रावत की गुटबाजी के कारण हारी। इंदिरा हृदयेश ने भी नगर निगम चुनाव में अपने बेटे की हार का ठीकरा हरीश रावत के ही सर फोड़ा। दोनों नेताओं ने सोनिया गांधी को यहां तक कहा की रावत अपने प्रभार क्षेत

पिथौरागढ़ उपचुनाव:- करीबी मुकाबले में भाजपा की चंद्रा पंत जीती, कांग्रेस की अंजू लुंठी को हराया

देहरादून। पूर्व मंत्री प्रकाश पंत के निधन के बाद रिक्त हुई पिथौरागढ़ विधान सभा सीट पर हुए उपचुनाव में उनकी पत्नी चंद्रा पंत ने जीत हासिल की है। आज हुई मतगणना में चंद्रा पंत ने करीबी मुकाबले में अपनी प्रतिद्वंदी कांग्रेस की अंजू लुंठी को करीब 3000 वोटों से हराया।

हरीश रावत का एलान, कहा अब सिर्फ 4 चार जिलों की राजनीति करूँगा

देहरादून। (राजीव कुमार) कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत राजनीति के माहिर खिलाड़ी माने जाते हैं। उनके इशारों को पढ़ पाना आसान नही होता। विधान सभा व लोकसभा चुनावों की दोहरी हार के बाद से कठिन सियासी हालात से जूझ रहे रावत ने सीमित राजनीति करने के संकेत देकर सबको चौंका दिया है। कांग्रेसी दिग्गज ने एक फेसबुक पोस्ट लिखकर खुद को प्रदेश के 4 जिलों की राजनीति तक सीमित रखने की घोषणा की है। उन्होंने लिखा है कि मैं आज जिस मुकाम पर हूँ वहाँ पहुँचाने में अल्मोड़ा, चम्पावत, पिथौरागढ़ व बागेश्वर जनपद के कोंग्रेसजनों का योगदान है। रावत ने लिखा कि कांग्रेस की राष्ट्रीय जिम्मेदारी निभाने के बाद जितना भी समय मिलेगा उसे वो अब इन्ही चार जिलों में पार्टी को मजबूत करने में लगाएंगे। उन्होंने लिखा कि फिलहाल वो प्रदेश अध्यक्ष के कहने पर पिथौरागढ़ उपचुनाव में पार्टी प्रत्याशी को जिताने में लगे हैं। दरअसल, रावत जिन चार जिलों की बात कर रहें है उनकी सभी 14 विधानसभा सीटें अल्मोड़ा लोकसभा क्षेत्र में आती हैं, जो कभी हरीश रावत का संसदीय क्षेत्र होता था। राज्य विधानसभा के 2022 में होने वाले चुना