Skip to main content

एक साल में भारत का क़र्ज़ 13 लाख करोड़ रुपये बढ़ा


 


पिछले कुछ वर्षों से भारत सरकार के कर्ज में तेज़ी से उछाल आया है। गत वर्ष की बात करें तो एक साल में सरकार पर 13 लाख करोड़ से ज्यादा की देनदारी बढ़ गयी है। वित्त मंत्रालय द्वारा जारी की गई एक रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है।
एक खबर के मुताबिक पिछले शुक्रवार को जारी “रिपोर्ट ऑन पब्लिक डेब्ट मैनेजमेंट” के अनुसार जून 2020 में सरकार का कर्ज बढ़कर 101.3 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया है, जो जून 2019 में 88.18 लाख करोड़ रुपये था। यानी जून 2019 से जून 2020 तक के बीच भारत सरकार की देनदारी 13.12 लाख करोड रुपए बढ़ गयी है। इतना ही नहीं यदि इस वर्ष मार्च के आंकड़ों पर नजर डालें तो उस वक़्त तक कर्ज 94.6 लाख करोड़ रुपये का था। इस वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में सरकार की लायबिलिटी 6.7 लाख करोड़ रुपये और बढ गयी, जिसके बाद जून 2020 के अंत में यह आंकड़ा बढ़कर 101.3 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया है।
आपको बता दें कि विपक्षी दल कांग्रेस पहले से ही सरकार पर बेतहाशा कर्ज लेने को लेकर हमलावर रही है। इस नई रिपोर्ट के आने के बाद राजनीतिक संग्राम होना लाजमी है।
विदित हो कोरोना महामारी के कारण सरकार की आमदनी पर संकट और गहरा जाएगा। अपने खर्च पूरे करने के लिए केंद्र सहित राज्य सरकारों को भी बाजार के कर्ज पर निर्भर रहना होगा। ऐसे में इस वर्ष सरकारी देनदारियों में और बढ़ोतरी संभव है।


Comments

Popular posts from this blog

उत्तराखंड में फिर बढ़े कोरोना मरीज़, आंकड़ा 80 हज़ार के पार

  राज्य में कोरोना संक्रमण के मामलों में एक बार फिर उछाल आया है। बीते 24 घंटों में 830 नए मरीज मिलने के बाद हड़कंप मच गया है। वहीं प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में इलाज के दौरान 12 कोरोना मरीजों की मौत हो गई है। आज नए मिले मामलों में अल्मोड़ा जिले के 53, बागेश्वर के 24, चमोली के 51, चंपावत के 17, देहरादून के 273, हरिद्वार के 63, नैनीताल के 105, पौड़ी के 37, पिथौरागढ़  के 61, रुद्रप्रयाग के 55, टिहरी के 44, उधमसिंह नगर के 37 तथा उत्तरकाशी जिले के 10 मरीज शामिल हैं। इसके बाद राज्य का आंकड़ा बढ़कर 80,486 तक पहुंच गया है।  वहीं इस दौरान 513 कोरोना मरीज स्वस्थ होकर अस्पतालों से डिस्चार्ज कर दिए गए। प्राप्त जानकारी के अनुसार 16,661 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट आनी बाकी है। इसके अलावा प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में 12 कोरोना मरीजों ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है। पिछले कई दिनों से राज्य में नए कोरोना मरीजों की संख्या लगातार घट रही थी लेकिन आज इसके एकदम से छलांग लगाने के कारण चिंता बढ़ गई है।

हरिद्वार कांग्रेस में बवाल, जिले के दिग्गज कांग्रेसियों ने बुलाई आपात बैठक

हरिद्वार (यश पाल)। प्रदेश कांग्रेस की कार्यकारिणी घोषित होने के बाद पार्टी में बवाल थमने का नाम नही ले रहा है। धारचूला से विधायक हरीश धामी की सुलगाई चिंगारी से उपजी लपटे अब हरिद्वार पहुंचती दिखाई दे रही हैं। कार्यकारिणी में शामिल नही किये गए ज़िले के 5 दर्ज़न दिग्गज शनिवार को एक बैठक करने जा रहे हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हरिद्वार के अधिकांश कांग्रेसी प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के खासमखास समझे जाने वाले एक पूर्व दर्जाधारी से खासे खफा है। बताया जा रहा है कि उक्त कांग्रेसी ने जनपद में पार्टी को अपना जेबी संगठन बना लिया है। इससे पार्टी के कार्यकर्ताओं में असंतोष बढ़ता जा रहा है। एक नेता ने नाम न छापने की शर्त पर बताया की बार बार प्रदेश नेतृत्व से शिकायत के बावज़ूद कार्यकर्त्ताओं की अनदेखी की जा रही है। इसीलिए आगे की रणनीति बनाने के लिए कल दोपहर को जिला पंचायत के एक बड़े नेता के घर बैठक रखी गयी है। बहरहाल जनपद में पार्टी की क्या स्थिति रहेगी ये तो आने वाला वक्त ही बतायेगा लेकिन इतना तय है की प्रीतम गुट पर इस वक़्त खतरे के बादल मंडरा रहे हैं।

राज्य में आज फिर बढ़े कोरोना के मामले

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के मामलों में आज एक बार फिर बढ़ोतरी हुई है। पिछले 24 घंटों में 420 नए मरीज़ मिलने से सरकार की चिंता बढ़ गयी है। वहीं राज्य में इलाज के दौरान 9 मरीज़ों ने दम तोड़ दिया। आज नए मिले मामलों में अल्मोड़ा जिले के 17, बागेश्वर के 12, चमोली के 28, चंपावत के 2, देहरादून के 153, हरिद्वार के 42, नैनीताल के 51, पौड़ी के 23, पिथौरागढ़ के 7, रुद्रप्रयाग के 28, टिहरी के 18, उधमसिंह नगर के 38 तथा उत्तरकाशी का 1 मरीज़ शामिल है। इसके अलावा 425 मरीज़ों को इलाज के बाद ठीक होने पर अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य के 16597 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट आनी बाकी है। प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में इलाज के दौरान आज 9 कोरोना मरीज़ों की मौत हो गयी है।

दिव्यांग बच्चों की शिक्षा और स्वास्थ्य के लिए विशेष व्यवस्था करेगा व्योम फाउंडेशन

हरिद्वार। व्योम फाउंडेशन द्वारा आज प्रतिभाशाली दिव्यांग बच्चों को पुरस्कृत किया गया। विभिन्न सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग करने वाले बच्चों को पुरस्कार देते हुए महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष डॉ संतोष चौहान व कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष अंशुल श्री कुंज ने कहा की नर सेवा ही नारायण सेवा है। उन्होंने कहा की बच्चे ईश्वर का रूप हैं, किसी भी रूप में उनकी सेवा ईश्वरीय उपासना के समकक्ष है। व्योम फाउंडेशन दिव्यांग बच्चों के शारीरिक व शैक्षिक विकास के लिए जो कार्य कर रहा है वो वंदनीय है। श्री राम नाम विश्व बैंक के महामंत्री सुमित तिवारी व अखिलेश दुबे ने कहा की बच्चे देश व समाज का भविष्य हैं। दिव्यांग बच्चों की आंखों में भी कुछ हासिल करने की उमंग और सपने हैं। आवश्यकता है समाज उनके सपनो को पूरा करने की जिम्मेदारी ले। व्योम फाउंडेशन की अध्यक्ष रश्मि मिश्रा ने कहा की विशेष बच्चों के लिए स्थापित संस्था का मकसद आसपास के दिव्यांग बच्चों को इलाज और शिक्षा की विशेष और बेहतर सुविधा उपलब्ध करना है। इस अवसर पर संस्था के उपाध्यक्ष विभाष मिश्र, महामंत्री कामिनी शर्मा, प्रदीप पाल, रजनी पाल, नितिन कौशिक,

बिना अनुमति गणेश विसर्जन का जुलूस निकालने पर मुकदमा दर्ज

कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच पुलिस प्रशासन संक्रमण के विस्तार को रोकने के लिए पूरी तरह चौकन्ना बना हुआ है। इसके लिए जहां पुलिस सामाजिक दूरी का पालन करा रही है वहीं मास्क न पहनने वालों से भी सख्ती से निपट रही है। इसके बावजूद कुछ लोग संक्रमण काल को हल्के में लेकर भीड़ जुटने वाले आयोजन करने से बाज़ नही आ रहे हैं। कल ऐसा ही एक वाक्या ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र में घटित हुआ जहां लोगों ने बिना अनुमति गणपति विसर्जन का जुलूस निकाला। कोतवाली पुलिस ने आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत लोधमण्डी ज्वालापुर निवासी बिट्टू सागर पुत्र श्यामलाल व 10-15 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

राज्य में दो जिलाधिकारियों के तबादले, सी रविशंकर होंगे हरिद्वार के नए DM

देहरादून। प्रदेश के दो महत्वपूर्ण जनपदों के जिलाधिकारियों को शासन ने बदल दिया है। हरिद्वार के जिलाधिकारी दीपेंद्र चौधरी के स्थान पर देहरादून के जिलाधिकारी सी रविशंकर को हरिद्वार की कमान सौंपी गई है। वहीं मुख्यमंत्री के अपर सचिव आशीष कुमार श्रीवास्तव को देहरादून का नया जिलाधिकारी बनाया गया है। अब तक हरिद्वार के जिलाधिकारी रहे दीपेंद्र कुमार चौधरी को प्रतीक्षा सूची में रखा गया है।

इस बार छोटी और बड़ी दिवाली एक ही दिन, 50 सालों बाद बना ऐसा योग

महालक्ष्मी योग में पूजन करने से होती है सुख-समृद्धि कि प्राप्ति हरिद्वार ll (हमारे संवाददाता ) इस बार कुछ ऐसा ज्योतिषीय योग बन रहा है कि छोटी और बड़ी दिवाली एक ही दिन मनाई जाएगी. यानि 27 अक्टूबर को बड़ी दिवाली के दिन ही छोटी दिवाली का पूजन भी किया जायेगा. ज्योतिषाचार्य इस योग को अद्भुत योग कि संज्ञा दे रहे है जो करीब 50 वर्षों के बाद बन रहा है. प्रख्यात ज्योतिषाचार्य डॉ प्रतीक मिश्रपुरी ने बताया कि सूर्य और चन्द्रमा कि स्थिति से पर्वों का निर्धारण होता है. उन्होंने बताया कि इस वर्ष नर्क चतुर्दशी (छोटी दिवाली) व दीपावली का महालक्ष्मी पूजन 27 अक्टूबर को ही होगा. देवताओं और पितृ देवताओं कि पूजा एक साथ होने के कारण इस दिवाली पर अद्भुत महालक्ष्मी योग बन रहा है. इस योग में विधि विधान से लक्ष्मी जी का पूजन करने से सुख, समृद्धि तथा ऐश्वर्या कि प्राप्ति होती है.

कुम्भ को लेकर हुई बैठक में बिफरी अखाड़ा परिषद, मुख्यमंत्री को सुनाई ख़री-ख़री

हरिद्वार। कुम्भ 2021 को लेकर आज मुख्यमंत्री के साथ हुई अखाड़ा परिषद की बैठक में संतो ने खूब खरी खोटी सुनाई। परिषद के पाधिकारियों ने कुम्भ की तैयारियों को लेकर सरकार व मेला प्रशासन पर उदासीनता बरतने का आरोप लगाया। हरिद्वार में अगले वर्ष होने वाले कुम्भ मेले की तैयारियां अभी तक शुरू नही हुई है। इसको लेकर सरकार पर लगातार आरोप लगते रहे हैं। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी कई बार अपनी नाराज़गी जता चुके हैं। मेले के आयोजन के लिए अखाड़ा परिषद के साथ विचार विमर्श करने व तैयारियों का जायजा लेने हेतु आज मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गयी थी। बैठक में पहले तो अखाड़ा परिषद के संतो ने मुख्यमंत्री को एक घंटे इंतज़ार कराया, और जब अखाड़ों के प्रतिनिधि बैठक में पहुंचे तो उन्होंने मुख्यमंत्री व शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक पर कुम्भ आयोजन को लेकर उदासीनता बरतने का आरोप लगाया। अखाड़ों के संतो ने कुम्भ मेला प्रशासन द्वारा परिषद की और से दिए गए प्रस्तावों पर काम न करने की शिकायत भी मुख्यमंत्री से की। अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने अखाड़ों में सुरक्षा, जमीनों पर से

भाजपा सांसद के पुत्र पर लगा यौन शोषण का आरोप

नई दिल्ली। भाजपा सांसद और वरिष्ठ नेता स्वप्न दासगुप्ता के बेटे सौम्यसृजन दासगुप्ता पर तीन महिलाओं ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखकर तीनो महिलाओं ने भाजपा नेता के पुत्र पर गम्भीर आरोप लगाए हैं। एक वेब पोर्टल की ख़बर के मुताबिक़ दिल्ली के स्टीफ़ंस कालेज से इतिहास में स्नातक कर चुका सौम्य अब सर्वोच्च न्यायालय में वकालत कर रहा है। वहीं इन आरोपों पर सौम्य की कोई सफ़ाई सामने नहीं आयी है।

सरकार गंगा जल की सफाई नही, उससे कमाई कर रही है : जलपुरुष

हरिद्वार।। पिछले वर्ष गंगा रक्षा के लिए अनशन करते हुए अपने प्राणों की आहुति देने वाले गंगा पुत्र ज्ञानस्वरूप सानंद जी की पहली पुण्यतिथि के अवसर पर भारत जागृति मिशन ने हरिद्वार स्थित पवन धाम में एक गोष्टी का आयोजन किया। इसकी अध्यक्षता करते हुए पावन धाम के परमाध्यक्ष स्वामी सहज प्रकाश जी ने कहा कि सानंद जी का जीवन माँ गंगा के लिए समर्पित रहा और अपने प्राण भी उन्होंने माँ गंगा की स्वच्छ्ता के लिए त्याग दिए, ऐसे विरले महापुरुष संसार में कभी कभी अवतरित होते हैं। उन्होंने कहा कि हम सब माँ गंगा की सेवा में सानंद जी द्वारा दिखाए मार्ग पर चले,यही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी। जलपुरुष राजेन्द्र सिंह सानंद जी के साथ बिताए अंतिम क्षणों को याद कर भावुक हो गए। उन्होंने कहा कि स्वामी जी को भाजपा सरकार से गंगा जी के लिए काम करने की बहुत आशा थी लेकिन जब उन्होंने देख लिया कि सरकार असंवेदनशील है तो उन्हें बहुत कष्ट हुआ और उन्होंने अपने प्राण त्याग दिए। उन्होंने कहा कि की स्वामी ज्ञानस्वरूप जी भले ही सशरीर हमारे साथ ना हों किन्तु वो हमेशा दिव्य शक्ति से हमारा मार्गदर्शन करते रहेंगे। गोष्टी में तेलगु