Skip to main content

Posts

गुलदार ने फिर दी दस्तक, अब इस क्षेत्र में हुआ सक्रिय

हरिद्वार। आदमखोर के खात्मे के बाद एक बार फिर गुलदार ने दस्तक दी है। इस बार गुलदार ने बिलकेश्वर रोड पर निर्मल अखाड़े की छावनी में एक पालतू कुत्ते को अपना शिकार बनाया। आपको बता दें की घटना स्थल से कुछ ही दूरी पर वन विभाग का दफ्तर स्थित है। अखाड़े के महंत सतनाम सिंह ने बताया की शाम होते ही गुलदार छावनी में घुस जाता है और पालतू जानवरों को अपना शिकार बनाता है। उन्होंने कहा की इस घटना से अखाड़े में रहने वाले संतो में दहशत है। उन्होंने वन विभाग से इस क्षेत्र में गश्त करने की मांग की है।

गुलदार के आतंक का हुआ अंत, आदमखोर को शिकारियों ने किया ढेर

हरिद्वार। वन विभाग और पेशेवर शिकारियों के संयुक्त प्रयास से आज देर शाम भेल के केंद्रीय विद्यालय के पास आदमखोर गुलदार को मार दिया गया। बता दे कि आज सुबह से ही शिकारियों की टीम भेल के जंगलों में आदमखोर गुलदार को ढूंढने निकली थी। शाम के समय एक टीम को गुलदार दिख भी गया था लेकिन सामने एक वाहन आने के कारण उसको शूट नही किया जा सका था। वहीं इसके उपरांत इलाके की सघन जांच के बाद देर शाम गुलदार को शूट कर उसके आतंक से क्षेत्र वासियों को मुक्त कराया गया।

Big breaking :- लोकसभा चुनावों के दौरान भाजपा को चंदे में मिले हज़ारों करोड़, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

दिल्ली। चुनावी चंदे को लेकर भाजपा 2014 के बाद से ही निशाने पर रही है। लेकिन अब राजनैतिक चंदे को लेकर आयी रिपोर्ट से सियासत गर्मा गयी है। दरअसल, 2019 के लोकसभा चुनावों के दौरान भाजपा को हज़ारों करोड़ रुपये चंदे के रूप में मिले। एक रिपोर्ट के अनुसार 10 मार्च 2019 से 23 मई 2019 तक बीजेपी को हर दिन करीब 47 करोड़ रुपये चंदा मिला। यानी पार्टी को 3 महीने से भी कम समय में 3650 करोड़ रुपये चंदा प्राप्त हुआ। इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद विपक्षी दलों ने भाजपा से सफाई मांगी है। जानकारों का मानना है कि आने वाले दिनों में चंदे को लेकर सत्तारूढ़ भाजपा पर विपक्ष और अधिक हमलावर रुख अपना सकता है।

आदमखोर गुलदार के आतंक का होगा अंत, राज्यभर के शिकारी बुलाये गए

हरिद्वार। खौफ का पर्याय बने आदमखोर गुलदार के शिकार के लिए पेशेवर शिकारी हरिद्वार पहुंच गए हैं। ज्ञात हो की भेल क्षेत्र में लोगों को शिकार बना रहे गुलदार को बीते दिनों वन विभाग ने आदमखोर घोषित किया था। इससे पहले गुलदार तीन लोगों सहित दर्ज़नो जानवरों को अपना निवाला बना चुका है। इन घटनाओं से पूरे इलाके में दहशत व्याप्त है। गुलदार का शिकार करने को विभाग ने राज्यभर के पेशेवर शिकारियों को बुला लिया है। शिकारियों ने भेल से लेकर रोशनाबाद तक की कुछ जगहों को चिन्हित कर तैयारियों कर ली हैं। वन विभाग की कोशिश है की जल्द से जल्द नरभक्षी गुलदार से लोगो को राहत दिलाई जाए।

दिव्यांग बच्चों की शिक्षा और स्वास्थ्य के लिए विशेष व्यवस्था करेगा व्योम फाउंडेशन

हरिद्वार। व्योम फाउंडेशन द्वारा आज प्रतिभाशाली दिव्यांग बच्चों को पुरस्कृत किया गया। विभिन्न सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग करने वाले बच्चों को पुरस्कार देते हुए महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष डॉ संतोष चौहान व कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष अंशुल श्री कुंज ने कहा की नर सेवा ही नारायण सेवा है। उन्होंने कहा की बच्चे ईश्वर का रूप हैं, किसी भी रूप में उनकी सेवा ईश्वरीय उपासना के समकक्ष है। व्योम फाउंडेशन दिव्यांग बच्चों के शारीरिक व शैक्षिक विकास के लिए जो कार्य कर रहा है वो वंदनीय है। श्री राम नाम विश्व बैंक के महामंत्री सुमित तिवारी व अखिलेश दुबे ने कहा की बच्चे देश व समाज का भविष्य हैं। दिव्यांग बच्चों की आंखों में भी कुछ हासिल करने की उमंग और सपने हैं। आवश्यकता है समाज उनके सपनो को पूरा करने की जिम्मेदारी ले। व्योम फाउंडेशन की अध्यक्ष रश्मि मिश्रा ने कहा की विशेष बच्चों के लिए स्थापित संस्था का मकसद आसपास के दिव्यांग बच्चों को इलाज और शिक्षा की विशेष और बेहतर सुविधा उपलब्ध करना है। इस अवसर पर संस्था के उपाध्यक्ष विभाष मिश्र, महामंत्री कामिनी शर्मा, प्रदीप पाल, रजनी पाल, नितिन कौशिक,

बंशीधर बने भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष, लंबी जद्दोजहद के बाद मिली कमान

देहरादून। लंबी चुनावी प्रक्रिया के बाद आखिरकार भाजपा को नया प्रदेश अध्यक्ष मिल ही गया। पार्टी ने 6 बार के विधायक बंशीधर भगत को कमान सौंपी है। भगत भाजपा के दिग्गज नेता हैं जो उत्तर प्रदेश और बाद में उत्तराखण्ड में भी मंत्री रह चुके हैं। पार्टी ने उनको कमान सौंपकर 2022 के चुनावों में पार्टी को जीत दिलाने की जिम्मेदारी दी हैं।

गांधी के पौत्र ने किया किशोर उपाध्याय को सम्मानित, ये सम्मान पाने वाले पहले व्यक्ति बने

गांधीवादी तरीकों से समाज व पर्यावरण की सेवा के लिए मिला "पर्यावरण संरक्षक सम्मान" देहरादून। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व वनाधिकार आंदोलन के प्रणेता किशोर उपाध्याय को गांधीवादी रास्ते पर चलकर समाज व पर्यावरण की बेहतरी के लिए काम करने पर 'पर्यावरण संरक्षक' की उपाधि देकर सम्मानित किया गया। जल पुरुष राजेन्द्र सिंह की संस्था तरुण भारत संघ द्वारा राजस्थान के अलवर में आयोजित एक समारोह में महात्मा गांधी के पौत्र अरुण गांधी ने किशोर को सम्मानित किया। संस्था ने गांधीवादी मार्ग का अनुसरण करते हुए समाज और पर्यावरण के लिए काम करने वालों को सम्मानित करने की शुरुआत की है। किशोर उपाध्याय ये सम्मान पाने वाले पहले व्यक्ति हैं। इस अवसर पर किशोर उपाध्याय ने कहा की सामाजिक सरोकारों के लिए किये हुए काम को पहचान मिलना और सम्मान के रूप में गांधी के पौत्र से प्रोतसाहन मिलना मेरे लिए नई ऊर्जा मिलने जैसा है। उन्होंने कहा की अब मैं अधिक शक्ति के साथ वंचितों व गिरिजनों सहित समस्त राज्यवासियों के बेहतर भविष्य व उनके वनाधिकारों को दिलाने के लिए कार्य करूँगा।

बढ़ती ठंड पर डीएम का आदेश, कल स्कूलों में छुट्टी का ऐलान

हरिद्वार। बढ़ती ठंड व मौसम विभाग द्वारा जारी पूर्वानुमान के चलते जिलाधिकारी ने कल 20 दिसंबर 2019 को कक्षा 01 से 12 तक के हरिद्वार के सभी शासकीय अशासकीय विद्यालयों/आँगनबाड़ी केन्द्रों में अवकाश घोषित कर दिया है।

बड़ी खबर :- प्रीतम ने की रावत की शिकायत, नाराज़ सोनिया के कड़े तेवर

देहरादून। (यशपाल) उत्तराखंड कांग्रेस में कुछ भी सामान्य नहीं है। यहां व्याप्त सन्नाटा किसी भीषण तूफान की आहट है। प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने भले ही पुरानी कमेटी भंग कर नई कार्यकारिणी बनाने के संकेत दिए हों, लेकिन दिल्ली से मिल रही खबरों पर यदि यकीन करें तो यह सब इतना आसान नहीं लगता जितना प्रीतम खेमा दिखा रहा है। दरअसल, कांग्रेस सूत्रों के अनुसार भारत बचाओ रैली के लिए दिल्ली गए प्रीतम सिंह ने नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश व प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह के साथ पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। इस दौरान प्रीतम ने सोनिया से राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री व राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत की जमकर शिकायत की। उन्होंने हरीश रावत द्वारा राज्य में पार्टी के समानांतर कार्य करने के आरोप लगाए तथा यहां तक कहा कि राज्य में पार्टी थराली व पिथौरागढ़ विधानसभा उपचुनावों सहित पंचायत चुनावों में रावत की गुटबाजी के कारण हारी। इंदिरा हृदयेश ने भी नगर निगम चुनाव में अपने बेटे की हार का ठीकरा हरीश रावत के ही सर फोड़ा। दोनों नेताओं ने सोनिया गांधी को यहां तक कहा की रावत अपने प्रभार क्षेत

अर्थव्यवस्था नही सुधरी तो राम मंदिर से मिली बढ़त भी खो देंगे:-भाजपा सांसद

भाजपा सांसद बोले पीएम मेरी नही, झूट बोलने वालों की बात सुनते हैं एक्सप्रेस ब्यूरो।।   भाजपा के राज्यसभा सांसद डॉ सुब्रमण्यम स्वामी ने मोदी सरकार की नीतियों पर निशाना साधा है। एक न्यूज़ वेबसाइट को दिए साक्षात्कार में स्वामी ने कहा कि अर्थव्यवस्था की हालत बेहद खराब है, बेरोज़गारी बढ़ती जा रही है। अगर यही हाल रहा तो पार्टी राम मंदिर के फैसले के बाद मिली बढ़त भी खो देगी। स्वामी ने कहा कि बढ़ती बेरोज़गारी से लोगो में सरकार के खिलाफ आक्रोश पनप रहा है। उन्होंने कहा की इस हाल में भाजपा झारखंड और दिल्ली के विधानसभा चुनाव हार जाएगी, राम मंदिर लहर भी जीत नही दिला पाएगी। उन्होंने कहा कि असली विकास दर 4.5% नही बल्कि 1.5% है। बकौल स्वामी पीएम मोदी उनकी बात नही सुनते हैं, वो झूठ बोलने वालों की सुनते है।

विकास दर घटकर हुई 4.5%, मनमोहन सिंह ने कहा मोदी ने तबाह की अर्थव्यवस्था

नई दिल्ली। जुलाई-सितंबर की तिमाही में भी विकास दर गिरकर 4.5% हो गई है, जो 7 सालों के निचले स्तर पर है। इससे पिछली तिमाही में जीडीपी 5% रही थी। सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद देश की अर्थव्यवस्था पटरी पर नही आ रही है।  पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने गिरती विकास दर पर सरकार पर हमला बोला है। राजीव गांधी फाउंडेशन में आयोजित एक कार्यक्रम में बोलते हुए मनमोहन सिंह ने कहा कि मोदी सरकार के राज में किसान, युवा, गरीब, व्यापारी, उद्योगपति सब परेशान है। उन्होंने कहा कि सरकार सबको शक की निगाह से देखती है जिस कारण देश में विकास का रास्ता अवरुद्ध हो रहा है।  पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि आज सरकार की गलत नीतियों के कारण अर्थव्यवस्था बेहद खराब दौर में पहुंच गई है। इससे उबर पाना आसान नही है। उन्होंने कहा कि सरकार इसको ठीक करने के लिए सही कदम नही उठा रही है। पिछली सरकारों की शुरू की गई योजनाओं व तब बांटे गए लोन को वर्तमान सरकार गलत बताकर उद्योगों का माहौल खराब कर रही है। उद्योग जगत में डर का माहौल है, इसलिए कोई भी व्यापारी नए प्रोजेक्ट लगाने की हिम्मत नही जुटा पा रहा है।

बंगाल में हार के बाद भाजपा ने भी अलापा ईवीएम राग

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की तीन विधान सभा सीटों पर हुए उपचुनावों में भाजपा की हार के बाद पार्टी के नेता ईवीएम पर सवाल उठा रहे हैं। विदित हो कि ईवीएम को लेकर कई बार सवाल उठे हैं, लेकिन हमेशा भाजपा ने इनको नकारा है।  अब बंगाल में हार के बाद पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने परिणामों को अप्रत्याशित बताते हुए ईवीएम पर संदेह जाहिर किया है। जब उनसे भाजपा की हार के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ईवीएम के अंदर या बाहर कुछ भी हो सकता है। काउंटिंग में सत्ताधारी दल की धांधली से इनकार नहीं किया जा सकता। इसकी शिकायत आयोग से हम करेंगे।

घाटे के कारण मुकेश अम्बानी बेचेंगे अपना मीडिया ग्रुप (network 18)?

दिल्ली। मुकेश अम्बानी मीडिया क्षेत्र की अपनी कंपनी नेटवर्क 18 को बेचने के लिए तैयार हैं। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक अम्बानी 56 न्यूज़ और मनोरंजन चैनलों वाली अपनी कंपनी को लगातार हो रहे घाटे की वजह से बेचना चाहते है। इसके लिए उनकी टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप से बातचीत चल रही है। विदित हो कि अम्बानी ने ये कंपनी 2014 में खरीदी थी।

पिथौरागढ़ उपचुनाव:- करीबी मुकाबले में भाजपा की चंद्रा पंत जीती, कांग्रेस की अंजू लुंठी को हराया

देहरादून। पूर्व मंत्री प्रकाश पंत के निधन के बाद रिक्त हुई पिथौरागढ़ विधान सभा सीट पर हुए उपचुनाव में उनकी पत्नी चंद्रा पंत ने जीत हासिल की है। आज हुई मतगणना में चंद्रा पंत ने करीबी मुकाबले में अपनी प्रतिद्वंदी कांग्रेस की अंजू लुंठी को करीब 3000 वोटों से हराया।

बड़ी खबर :- भाजपा को झटका, अजीत पंवार दे सकते हैं इस्तीफा

मुम्बई। महाराष्ट्र के सियासी घटनाक्रम से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है। देश की एक प्रतिष्ठित न्यूज़ एजेंसी को एनसीपी के एक नेता ने नाम न छापने की शर्त पर ये दावा किया है कि आज शाम तक पार्टी के बागी अजीत पंवार उप मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे सकते हैं।  इससे पहले एनसीपी नेताओं और शरद पंवार के परिवार ने अजीत पंवार व उनके भाई से उन्हें मनाने के लिए कई बार बातचीत की थी। एनसीपी के प्रदेश अध्यक्ष ने भी अजीत पंवार से मुलाकात की थी।

हरीश रावत का एलान, कहा अब सिर्फ 4 चार जिलों की राजनीति करूँगा

देहरादून। (राजीव कुमार) कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत राजनीति के माहिर खिलाड़ी माने जाते हैं। उनके इशारों को पढ़ पाना आसान नही होता। विधान सभा व लोकसभा चुनावों की दोहरी हार के बाद से कठिन सियासी हालात से जूझ रहे रावत ने सीमित राजनीति करने के संकेत देकर सबको चौंका दिया है। कांग्रेसी दिग्गज ने एक फेसबुक पोस्ट लिखकर खुद को प्रदेश के 4 जिलों की राजनीति तक सीमित रखने की घोषणा की है। उन्होंने लिखा है कि मैं आज जिस मुकाम पर हूँ वहाँ पहुँचाने में अल्मोड़ा, चम्पावत, पिथौरागढ़ व बागेश्वर जनपद के कोंग्रेसजनों का योगदान है। रावत ने लिखा कि कांग्रेस की राष्ट्रीय जिम्मेदारी निभाने के बाद जितना भी समय मिलेगा उसे वो अब इन्ही चार जिलों में पार्टी को मजबूत करने में लगाएंगे। उन्होंने लिखा कि फिलहाल वो प्रदेश अध्यक्ष के कहने पर पिथौरागढ़ उपचुनाव में पार्टी प्रत्याशी को जिताने में लगे हैं। दरअसल, रावत जिन चार जिलों की बात कर रहें है उनकी सभी 14 विधानसभा सीटें अल्मोड़ा लोकसभा क्षेत्र में आती हैं, जो कभी हरीश रावत का संसदीय क्षेत्र होता था। राज्य विधानसभा के 2022 में होने वाले चुना

दो लोगों को मिला एक ही एकाउंट नंबर, एक ने पैसे डाले-दूसरे ने निकाले, सोचा शायद मोदी ने भेजें हैं

भोपाल। मध्य प्रदेश के भिंड जिले के रुरई गांव के हुकम सिंह व रोनी गांव के हुकम सिंह ने एसबीआई की आलमपुर शाखा में खाता खोला था। दोनो के एक ही नाम होने के कारण बैंक ने गलती से दोनों को एक ही एकाउंट नंबर दे दिया।  रुरई गांव वाले हुकम सिंह रोजगार की तलाश में हरियाणा चले गए। वो वहाँ पैसा कमाकर अपने खाते में जमा करते रहे। उधर रोनी गांव वाले हुकम सिंह उसी खाते से ये सोचकर पैसा निकालते रहे कि शायद किसी सरकारी योजना के तहत मोदी ने पैसा भेजा है। छः महीने बाद जब रुरई वाले हुकम सिंह अपने गांव वापस आये तो अपनी पासबुक में एंट्री कराने बैंक गए। खाते का बैलेंस जानकर उनके होश उड़ गए। उनके एकाउंट में 1,40,000 रुपये की जगह सिर्फ 35,000 रुपये शेष थे। बैंक मैनेजर से शिकायत करने पर जांच हुई, तब सारा माजरा समझ में आया की खाते से रकम दूसरे हुकम सिंह ने निकाली है।

भाजपा सरकार पिछडों को और ज्यादा आरक्षण देगी: शाह

अमित शाह ने झारखंड में चुनावी प्रचार की कमान संभाली रांची। गृह मंत्री व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने झारखंड विधान सभा चुनावों में आज प्रचार शुरू किया। उन्होंने मनिका विधान सभा क्षेत्र में एक रैली को संबोधित करते हुए बड़ा दावा किया। शाह ने कहा कि मोदी सरकार पहले ही पिछड़ा आयोग को संवैधानिक दर्जा दे चुकी है अब सरकार पिछड़ों को और अधिक आरक्षण देने के उपायों पर विचार कर रही है। विपक्षी कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए अमित शाह ने कहा कि 70 सालों के कांग्रेस शासन में गरीबों और पिछड़ों के लिए कुछ नही हुआ। भाजपा अध्यक्ष ने चुनावी माहौल को गर्माने के लिए धारा 370 हटाने व अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के मुद्दे भी उठाए।

भाजपा विधायक ने उठाये अपनी ही सरकार पर सवाल

देहरादून ।। (यशपाल) उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सरकार अपने ही दल के विधायक के निशाने पर आ गयी है। काशीपुर विधायक हरभजन सिंह चीमा ने राज्य में आयुष्मान योजना पर सवाल उठाते हुए इसे पूरी तरह विफल बताया। उन्होंने प्रेस वार्ता कर बताया कि इस योजना का लाभ गरीबो को नही दिया जा रहा है और सरकार कुछ नही कर रही है। कई अन्य राज्यों का उदाहरण देते हुए चीमा ने कहा कि दूसरे राज्यों में आयुष्मान योजना के तहत जितना बजट खर्च किया गया है उत्तराखंड में उसका 10 फीसदी ही खर्च हुआ है। ये इस बात का संकेत है कि राज्य सरकार प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट को लेकर कितनी उदासीन है। भाजपा विधायक ने कई अन्य विषयों को लेकर भी सरकार पर हमला बोला। दरअसल चीमा अपनी उपेक्षा को लेकर सरकार से नाराज बताए जा रहे हैं। हालांकि जानकार, हरभजन सिंह के इस बयान को कैबिनेट की खाली कुर्सी को लेकर दबाव की राजनीति भी कह रहे हैं।  

लोकसभा चुनावों में 370 सीटों पर गिनती में गड़बड़ी, ADR का दावा !

याचिकाकर्ता के आरोपों पर चुनाव आयोग खामोश नई दिल्ली।।  पिछले लंबे समय से ईवीएम से छेड़छाड़ को लेकर राजनीति कई बार गर्मायी है। आरोप प्रत्यारोपों के बीच खुद चुनाव आयोग तक को इस मामले में सफाई देनी पड़ी। ईवीएम का जिन्न एक बार फिर बोतल से बाहर आ गया है।  2014-2019 के लोकसभा चुनावों में वोटों की गिनती को लेकर एडीआर (Association For Democratic reform) ने गंभीर आरोप लगाए हैं। संस्था ने 15 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर कहा की 2014 के लोकसभा चुनावों में 370 लोकसभा सीटों पर गिनती में गड़बड़ी की गयी है। एडीआर ने याचिका में कहा है की डाले गए वोटों की संख्या और ईवीएम में निकले वोटों की संख्या अलग अलग है। उसका दावा है की चुनाव आयोग ने इस बारे में कुछ नही कहा है। वहीं 2019 के चुनावों की गिनती के बाद चुनाव आयोग द्वारा अपनी वेबसाइट और एप्प पर जो डाटा अपलोड किया गया उसको कईं बार बदला गया। एडीआर का आरोप है की वोटों के मिलान में गलती के कारण बार बार ऐसा किया गया। याचिका में मांग की गयी है की चुनाव परिणाम पूरी तरह जांच परख कर ही घोषित किये जाएं। याचिकाकर्ता ने बताया की इंग्लैंड, पेरू, ब्राज़ील,