Skip to main content

लोकसभा चुनावों में 370 सीटों पर गिनती में गड़बड़ी, ADR का दावा !


याचिकाकर्ता के आरोपों पर चुनाव आयोग खामोश


नई दिल्ली।। पिछले लंबे समय से ईवीएम से छेड़छाड़ को लेकर राजनीति कई बार गर्मायी है। आरोप प्रत्यारोपों के बीच खुद चुनाव आयोग तक को इस मामले में सफाई देनी पड़ी। ईवीएम का जिन्न एक बार फिर बोतल से बाहर आ गया है। 


2014-2019 के लोकसभा चुनावों में वोटों की गिनती को लेकर एडीआर (Association For Democratic reform) ने गंभीर आरोप लगाए हैं। संस्था ने 15 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर कहा की 2014 के लोकसभा चुनावों में 370 लोकसभा सीटों पर गिनती में गड़बड़ी की गयी है।


एडीआर ने याचिका में कहा है की डाले गए वोटों की संख्या और ईवीएम में निकले वोटों की संख्या अलग अलग है। उसका दावा है की चुनाव आयोग ने इस बारे में कुछ नही कहा है। वहीं 2019 के चुनावों की गिनती के बाद चुनाव आयोग द्वारा अपनी वेबसाइट और एप्प पर जो डाटा अपलोड किया गया उसको कईं बार बदला गया। एडीआर का आरोप है की वोटों के मिलान में गलती के कारण बार बार ऐसा किया गया।


याचिका में मांग की गयी है की चुनाव परिणाम पूरी तरह जांच परख कर ही घोषित किये जाएं। याचिकाकर्ता ने बताया की इंग्लैंड, पेरू, ब्राज़ील, फ्रांस जैसे देशों में एक निर्धारित एजेंसी की जांच के बाद ही चुनाव परिणाम घोषित किये जाते हैं।


Comments

Popular posts from this blog

राज्य में आज फिर बढ़े कोरोना के मामले

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के मामलों में आज एक बार फिर बढ़ोतरी हुई है। पिछले 24 घंटों में 420 नए मरीज़ मिलने से सरकार की चिंता बढ़ गयी है। वहीं राज्य में इलाज के दौरान 9 मरीज़ों ने दम तोड़ दिया। आज नए मिले मामलों में अल्मोड़ा जिले के 17, बागेश्वर के 12, चमोली के 28, चंपावत के 2, देहरादून के 153, हरिद्वार के 42, नैनीताल के 51, पौड़ी के 23, पिथौरागढ़ के 7, रुद्रप्रयाग के 28, टिहरी के 18, उधमसिंह नगर के 38 तथा उत्तरकाशी का 1 मरीज़ शामिल है। इसके अलावा 425 मरीज़ों को इलाज के बाद ठीक होने पर अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य के 16597 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट आनी बाकी है। प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में इलाज के दौरान आज 9 कोरोना मरीज़ों की मौत हो गयी है।

उत्तराखंड में फिर बढ़े कोरोना मरीज़, आंकड़ा 80 हज़ार के पार

  राज्य में कोरोना संक्रमण के मामलों में एक बार फिर उछाल आया है। बीते 24 घंटों में 830 नए मरीज मिलने के बाद हड़कंप मच गया है। वहीं प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में इलाज के दौरान 12 कोरोना मरीजों की मौत हो गई है। आज नए मिले मामलों में अल्मोड़ा जिले के 53, बागेश्वर के 24, चमोली के 51, चंपावत के 17, देहरादून के 273, हरिद्वार के 63, नैनीताल के 105, पौड़ी के 37, पिथौरागढ़  के 61, रुद्रप्रयाग के 55, टिहरी के 44, उधमसिंह नगर के 37 तथा उत्तरकाशी जिले के 10 मरीज शामिल हैं। इसके बाद राज्य का आंकड़ा बढ़कर 80,486 तक पहुंच गया है।  वहीं इस दौरान 513 कोरोना मरीज स्वस्थ होकर अस्पतालों से डिस्चार्ज कर दिए गए। प्राप्त जानकारी के अनुसार 16,661 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट आनी बाकी है। इसके अलावा प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में 12 कोरोना मरीजों ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है। पिछले कई दिनों से राज्य में नए कोरोना मरीजों की संख्या लगातार घट रही थी लेकिन आज इसके एकदम से छलांग लगाने के कारण चिंता बढ़ गई है।

अब हरिद्वार में कम खर्च में होगा डायलिसिस

ह रिद्वार के कनखल स्थित रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम में अब डायलिसिस यूनिट की शुरुआत होने जा रही है, जिसमें हाईटेक मशीनों द्वारा किडनी के मरीजों को डायलिसिस की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम के सचिव स्वामी नित्यशुद्धानंद ने बताया कि हरिद्वार में पहली बार कम मूल्य पर डायलिसिस की सुविधा किडनी के मरीजों को उपलब्ध हो सकेगी। उन्होंने बताया कि उच्च शिक्षित विशेषज्ञ एवं चिकित्सक की देखरेख में इस यूनिट का संचालन होगा। इसके बाद यहां के रोगियों को डायलिसिस करने के लिए बाहर नही जाना पड़ेगा।  उन्होंने कहा कि संस्थान में लंबे समय से इसकी मांग की जा रही थी। मिशन के अथक प्रयासों एवं जनता के सहयोग से यह डायलिसिस यूनिट शुरू होने जा रही है, जिसका उद्घाटन शुक्रवार को हरिद्वार के जिलाधिकारी सी रविशंकर के हाथों से होगा। इस समारोह में विशिष्ट अतिथि के तौर पर मैक्स हॉस्पिटल देहरादून के उपाध्यक्ष डॉ संदीप तलवार और नेफ्रोलॉजिस्ट डॉक्टर पुनीत अरोड़ा भी मौजूद रहेंगे। कार्यक्रम के संयोजक स्वामी दयाधिपानंद महाराज ने बताया कि इस केंद्र के सुचारू रूप से संचालन के लिए गुरुवार को  रामकृष्ण मिशन में  विशेष प

कांग्रेसी नेता के निधन पर इस प्रदेश के राज्यपाल ने जारी किया शोक संदेश

कोश्यारी ने कांग्रेसी नेता पांडेय के निधन पर जताया शोक हरिद्वार।।  राज्य आंदोलनकारी व वरिष्ठ कांग्रेसी नेता जे पी पांडेय का कल रात एक विवाह समारोह में जाते वक्त सड़क दुर्घटना में निधन हो गया था। इस घटना को सुनकर हर कोई स्तब्ध है और श्री पांडेय द्वारा किये गए सामाजिक राजनैतिक कार्यों की चर्चा कर रहा है। आज दोपहर में कनखल स्थित शमशान घाट पर श्री पांडेय का अंतिम संस्कार किया गया। विभिन्न नेताओं, पत्रकारों, राज्य आंदोलनकारियों ने उनके निधन पर दुख जताया है। इस बीच महाराष्ट्र की सियासी सरगर्मी के बावजूद वहां के राज्यपाल और उत्तराखंड के दिग्गज भाजपाई रहे भगत सिंह कोशियारी ने भी श्री पांडेय को श्रद्धांजलि दी है।

कुम्भ को लेकर हुई बैठक में बिफरी अखाड़ा परिषद, मुख्यमंत्री को सुनाई ख़री-ख़री

हरिद्वार। कुम्भ 2021 को लेकर आज मुख्यमंत्री के साथ हुई अखाड़ा परिषद की बैठक में संतो ने खूब खरी खोटी सुनाई। परिषद के पाधिकारियों ने कुम्भ की तैयारियों को लेकर सरकार व मेला प्रशासन पर उदासीनता बरतने का आरोप लगाया। हरिद्वार में अगले वर्ष होने वाले कुम्भ मेले की तैयारियां अभी तक शुरू नही हुई है। इसको लेकर सरकार पर लगातार आरोप लगते रहे हैं। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी कई बार अपनी नाराज़गी जता चुके हैं। मेले के आयोजन के लिए अखाड़ा परिषद के साथ विचार विमर्श करने व तैयारियों का जायजा लेने हेतु आज मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गयी थी। बैठक में पहले तो अखाड़ा परिषद के संतो ने मुख्यमंत्री को एक घंटे इंतज़ार कराया, और जब अखाड़ों के प्रतिनिधि बैठक में पहुंचे तो उन्होंने मुख्यमंत्री व शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक पर कुम्भ आयोजन को लेकर उदासीनता बरतने का आरोप लगाया। अखाड़ों के संतो ने कुम्भ मेला प्रशासन द्वारा परिषद की और से दिए गए प्रस्तावों पर काम न करने की शिकायत भी मुख्यमंत्री से की। अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने अखाड़ों में सुरक्षा, जमीनों पर से

महाराष्ट्र चुनावों में उत्तराखण्ड मूल के लोगों की महत्वपूर्ण भूमिका:शिवसेना

मुम्बई। महाराष्ट्र में होने वाले विधानसभा चुनावों में उत्तराखण्ड राज्य के शिवसेना प्रमुख गौरव कुमार ने मुम्बई में उत्तराखण्डवासियों के बीच चुनाव प्रचार किया। उन्होने कहा इस बार महाराष्ट्र में होने वाल चुनावों में शहरी सीटों में उत्तराखडं मूल के वोटर महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। श्री गौरव ने कहा की शिवसेना ही एक मात्र ऐसी पार्टी है, जो जनता की सभी समस्याओं का समाधन करती है। शिवसेना देवभूमि उत्तराखण्ड की धरती से वीर भूमि महाराष्ट्र की धरती तक समाज सेवा की भावना से राजनीति करती है। उन्होंने कहा की शिवसेना जनता की भलाई के लिये हर समय तैयार रहती है। शिवसेना उत्तराखंड इकाई  के प्रदेश प्रमुख गौरव कुमार के नेतृत्व में महाराष्ट्र चुनावों में प्रचार के लिए गए प्रतिनिधि मण्डल में रूपेद्र नागर, शिवम गोयल, शिव नारायण, विनीत रमोला, संजय उनियाल, सुरेन्द्र नेगी, धनवीर सिह चम्याल, प्रेम गोस्वामी, महावीर पेनोली, प्रकाश ढौंडियाल, वीरेन्द्र नेगी, धनपाल सिह लोधल आदि शामिल हैं।

कांग्रेस में होगा नेतृत्व परिवर्तन! नेताओं ने दिल्ली में डाला डेरा

  हरीश, किशोर हैं प्रबल दावेदार, कई अन्य नेता भी कतार में देहरादून । ( यश पाल ) उत्तराखंड कांग्रेस पिछले विधान सभा चुनावों में मिली करारी हार से अभी तक उबर नही पायी है। ऊपर से संगठन की शिथिलता कार्यकर्ताओं के मनोबल पर हावी हो रही है। राज्य की भाजपा सरकार के अपना आधा कार्यकाल पूरा करते ही विधान सभा चुनाव नज़दीक आते देख कांग्रेस में एक बार फिर नेतृत्व परिवर्तन की सुगबुगाहट सुनाई देने लगी है। दरअसल, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह दो साल बाद भी अपनी कार्यकारणी नही बना पाए हैं। प्रीतम न तो राज्य में भाजपा सरकार को विपक्ष की मजबूत चुनौती पेश कर पाए हैं और न ही नगर निकाय और पंचायत चुनावों में पार्टी को जीत दिल पाए हैं। और तो और लोकसभा चुनावों में भी पार्टी प्रदेश अध्यक्ष सहित सभी पांचों सीटें बुरी तरह हर गयी थी।  वही केंद्र में सोनिया गांधी के अध्यक्ष पद दोबारा संभालने के बाद राज्य में भी राजनैतिक समीकरण बदलने लगे है। कांग्रेस ने हाल ही में कई राज्यों के संगठन में बड़े बदलाव किये हैं। उत्तर प्रदेश, जहां उत्तराखंड के साथ ही चुनाव होने है वहां भी पार्टी ने संगठन में आमूलचूल परिवर्तन किय

किशोर की मुहीम को मिला समर्थन, व्यापारियों ने भी मांगा निशुल्क बिजली-पानी

हरिद्वार। वनाधिकार आंदोलन के संयोजक किशोर उपाध्याय लंबे समय से प्रदेशवासियों को 200 यूनिट बिजली व पानी निशुल्क देने की मांग कर रहे हैं। इसके साथ ही 9 बिंदुओं के मांग पत्र के साथ वो राज्यवासियों के हक-हकूकों की लड़ाई लड़ रहे हैं। किशोर को इन मुद्दों पर जनसमर्थन भी मिलना शुरू हो गया है। ताज़ा मामला हरिद्वार से सामने आया है जहां बिजली पानी के मुद्दों पर महानगर व्यापार मंडल के अध्यक्ष सुनील सेठी ने प्रशासन को ज्ञापन सौंपकर 200 यूनिट बिजली व पानी निशुल्क देने की मांग की है। दरअसल, वनाधिकार आंदोलन के बैनर तले चल रहे इस अभियान में लोग रुचि ले रहे हैं। इस विषय पर किशोर उपाध्याय ने कहा कि हम लोगों के मौलिक अधिकारों की आवाज़ उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब दिल्ली जैसा राज्य उत्तराखंड से बिजली पानी खरीदकर दिल्ली वासियों को मुफ्त दे सकता है तो उत्तराखंड तो बिजली पानी का उत्पादक राज्य है, यहां तो सरकार को इसका कोई दाम नही लेना चाहिए। आंदोलन के हरिद्वार महानगर अध्यक्ष विभाष मिश्रा ने भी समर्थन के लिए व्यापारियों का आभार प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि ये जनता की लड़ाई है, इसको सब मिलकर लड़ेंगे।

बिना अनुमति गणेश विसर्जन का जुलूस निकालने पर मुकदमा दर्ज

कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच पुलिस प्रशासन संक्रमण के विस्तार को रोकने के लिए पूरी तरह चौकन्ना बना हुआ है। इसके लिए जहां पुलिस सामाजिक दूरी का पालन करा रही है वहीं मास्क न पहनने वालों से भी सख्ती से निपट रही है। इसके बावजूद कुछ लोग संक्रमण काल को हल्के में लेकर भीड़ जुटने वाले आयोजन करने से बाज़ नही आ रहे हैं। कल ऐसा ही एक वाक्या ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र में घटित हुआ जहां लोगों ने बिना अनुमति गणपति विसर्जन का जुलूस निकाला। कोतवाली पुलिस ने आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत लोधमण्डी ज्वालापुर निवासी बिट्टू सागर पुत्र श्यामलाल व 10-15 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

उत्तराखंड में 1391 कोरोना संक्रमित, 9 की मौत

उत्तराखंड में आज एक बार फिर बड़ी संख्या में कोरोना मरीज मिलने से सरकार की चिंता बढ़ गई है। तमाम प्रयासों के बाद भी संक्रमण रुकने का नाम नही ले रहा है। राज्य में आज 1391 नए संक्रमित मिलने के बाद यहां का कुल आंकड़ा बढ़कर 34407 तक पहुंच गया। वहीं इलाज के दौरान राज्य के विभिन्न अस्पतालों में 9 मरीजों ने दम तोड़ दिया। आज नए सामने आए मामलों में चमोली जिले में 7, चंपावत में 23, देहरादून में 421, हरिद्वार में 219, नैनीताल में 226, पौड़ी में 38, पिथौरागढ़ में 30, रुद्रप्रयाग में 27, टिहरी में 31, उधमसिंहनगर में 318 तथा उत्तरकाशी जिले में 51 मरीज मिले हैं। वही इलाज के बाद ठीक होने वालों की संख्या आज 1008 रही। इसके साथ ही 12611 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट आनी अभी बाकी है। प्रदेश में जिन 9 लोगों की इलाज के दौरान मौत हुई उनमें से 4 लोगों का निधन एम्स ऋषिकेश में, तीन का दून मेडिकल कॉलेज देहरादून तथा दो का डॉ सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी में हुआ है।