Skip to main content

अर्थव्यवस्था नही सुधरी तो राम मंदिर से मिली बढ़त भी खो देंगे:-भाजपा सांसद


भाजपा सांसद बोले पीएम मेरी नही, झूट बोलने वालों की बात सुनते हैं


एक्सप्रेस ब्यूरो।। भाजपा के राज्यसभा सांसद डॉ सुब्रमण्यम स्वामी ने मोदी सरकार की नीतियों पर निशाना साधा है। एक न्यूज़ वेबसाइट को दिए साक्षात्कार में स्वामी ने कहा कि अर्थव्यवस्था की हालत बेहद खराब है, बेरोज़गारी बढ़ती जा रही है। अगर यही हाल रहा तो पार्टी राम मंदिर के फैसले के बाद मिली बढ़त भी खो देगी।


स्वामी ने कहा कि बढ़ती बेरोज़गारी से लोगो में सरकार के खिलाफ आक्रोश पनप रहा है। उन्होंने कहा की इस हाल में भाजपा झारखंड और दिल्ली के विधानसभा चुनाव हार जाएगी, राम मंदिर लहर भी जीत नही दिला पाएगी।


उन्होंने कहा कि असली विकास दर 4.5% नही बल्कि 1.5% है। बकौल स्वामी पीएम मोदी उनकी बात नही सुनते हैं, वो झूठ बोलने वालों की सुनते है।


Comments

Popular posts from this blog

अब हरिद्वार में कम खर्च में होगा डायलिसिस

ह रिद्वार के कनखल स्थित रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम में अब डायलिसिस यूनिट की शुरुआत होने जा रही है, जिसमें हाईटेक मशीनों द्वारा किडनी के मरीजों को डायलिसिस की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम के सचिव स्वामी नित्यशुद्धानंद ने बताया कि हरिद्वार में पहली बार कम मूल्य पर डायलिसिस की सुविधा किडनी के मरीजों को उपलब्ध हो सकेगी। उन्होंने बताया कि उच्च शिक्षित विशेषज्ञ एवं चिकित्सक की देखरेख में इस यूनिट का संचालन होगा। इसके बाद यहां के रोगियों को डायलिसिस करने के लिए बाहर नही जाना पड़ेगा।  उन्होंने कहा कि संस्थान में लंबे समय से इसकी मांग की जा रही थी। मिशन के अथक प्रयासों एवं जनता के सहयोग से यह डायलिसिस यूनिट शुरू होने जा रही है, जिसका उद्घाटन शुक्रवार को हरिद्वार के जिलाधिकारी सी रविशंकर के हाथों से होगा। इस समारोह में विशिष्ट अतिथि के तौर पर मैक्स हॉस्पिटल देहरादून के उपाध्यक्ष डॉ संदीप तलवार और नेफ्रोलॉजिस्ट डॉक्टर पुनीत अरोड़ा भी मौजूद रहेंगे। कार्यक्रम के संयोजक स्वामी दयाधिपानंद महाराज ने बताया कि इस केंद्र के सुचारू रूप से संचालन के लिए गुरुवार को  रामकृष्ण मिशन में  विशेष प

उत्तराखंड में फिर बढ़े कोरोना मरीज़, आंकड़ा 80 हज़ार के पार

  राज्य में कोरोना संक्रमण के मामलों में एक बार फिर उछाल आया है। बीते 24 घंटों में 830 नए मरीज मिलने के बाद हड़कंप मच गया है। वहीं प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में इलाज के दौरान 12 कोरोना मरीजों की मौत हो गई है। आज नए मिले मामलों में अल्मोड़ा जिले के 53, बागेश्वर के 24, चमोली के 51, चंपावत के 17, देहरादून के 273, हरिद्वार के 63, नैनीताल के 105, पौड़ी के 37, पिथौरागढ़  के 61, रुद्रप्रयाग के 55, टिहरी के 44, उधमसिंह नगर के 37 तथा उत्तरकाशी जिले के 10 मरीज शामिल हैं। इसके बाद राज्य का आंकड़ा बढ़कर 80,486 तक पहुंच गया है।  वहीं इस दौरान 513 कोरोना मरीज स्वस्थ होकर अस्पतालों से डिस्चार्ज कर दिए गए। प्राप्त जानकारी के अनुसार 16,661 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट आनी बाकी है। इसके अलावा प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में 12 कोरोना मरीजों ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है। पिछले कई दिनों से राज्य में नए कोरोना मरीजों की संख्या लगातार घट रही थी लेकिन आज इसके एकदम से छलांग लगाने के कारण चिंता बढ़ गई है।

राज्य में आज फिर बढ़े कोरोना के मामले

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के मामलों में आज एक बार फिर बढ़ोतरी हुई है। पिछले 24 घंटों में 420 नए मरीज़ मिलने से सरकार की चिंता बढ़ गयी है। वहीं राज्य में इलाज के दौरान 9 मरीज़ों ने दम तोड़ दिया। आज नए मिले मामलों में अल्मोड़ा जिले के 17, बागेश्वर के 12, चमोली के 28, चंपावत के 2, देहरादून के 153, हरिद्वार के 42, नैनीताल के 51, पौड़ी के 23, पिथौरागढ़ के 7, रुद्रप्रयाग के 28, टिहरी के 18, उधमसिंह नगर के 38 तथा उत्तरकाशी का 1 मरीज़ शामिल है। इसके अलावा 425 मरीज़ों को इलाज के बाद ठीक होने पर अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य के 16597 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट आनी बाकी है। प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में इलाज के दौरान आज 9 कोरोना मरीज़ों की मौत हो गयी है।

एक साल में भारत का क़र्ज़ 13 लाख करोड़ रुपये बढ़ा

  पिछले कुछ वर्षों से भारत सरकार के कर्ज में तेज़ी से उछाल आया है। गत वर्ष की बात करें तो एक साल में सरकार पर 13 लाख करोड़ से ज्यादा की देनदारी बढ़ गयी है। वित्त मंत्रालय द्वारा जारी की गई एक रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। एक खबर के मुताबिक पिछले शुक्रवार को जारी “रिपोर्ट ऑन पब्लिक डेब्ट मैनेजमेंट” के अनुसार जून 2020 में सरकार का कर्ज बढ़कर 101.3 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया है, जो जून 2019 में 88.18 लाख करोड़ रुपये था। यानी जून 2019 से जून 2020 तक के बीच भारत सरकार की देनदारी 13.12 लाख करोड रुपए बढ़ गयी है। इतना ही नहीं यदि इस वर्ष मार्च के आंकड़ों पर नजर डालें तो उस वक़्त तक कर्ज 94.6 लाख करोड़ रुपये का था। इस वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में सरकार की लायबिलिटी 6.7 लाख करोड़ रुपये और बढ गयी, जिसके बाद जून 2020 के अंत में यह आंकड़ा बढ़कर 101.3 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया है। आपको बता दें कि विपक्षी दल कांग्रेस पहले से ही सरकार पर बेतहाशा कर्ज लेने को लेकर हमलावर रही है। इस नई रिपोर्ट के आने के बाद राजनीतिक संग्राम होना लाजमी है। विदित हो कोरोना महामारी के कारण सरकार की आमदनी पर संकट औ

भाजपा सांसद के पुत्र पर लगा यौन शोषण का आरोप

नई दिल्ली। भाजपा सांसद और वरिष्ठ नेता स्वप्न दासगुप्ता के बेटे सौम्यसृजन दासगुप्ता पर तीन महिलाओं ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखकर तीनो महिलाओं ने भाजपा नेता के पुत्र पर गम्भीर आरोप लगाए हैं। एक वेब पोर्टल की ख़बर के मुताबिक़ दिल्ली के स्टीफ़ंस कालेज से इतिहास में स्नातक कर चुका सौम्य अब सर्वोच्च न्यायालय में वकालत कर रहा है। वहीं इन आरोपों पर सौम्य की कोई सफ़ाई सामने नहीं आयी है।

बिना अनुमति गणेश विसर्जन का जुलूस निकालने पर मुकदमा दर्ज

कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच पुलिस प्रशासन संक्रमण के विस्तार को रोकने के लिए पूरी तरह चौकन्ना बना हुआ है। इसके लिए जहां पुलिस सामाजिक दूरी का पालन करा रही है वहीं मास्क न पहनने वालों से भी सख्ती से निपट रही है। इसके बावजूद कुछ लोग संक्रमण काल को हल्के में लेकर भीड़ जुटने वाले आयोजन करने से बाज़ नही आ रहे हैं। कल ऐसा ही एक वाक्या ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र में घटित हुआ जहां लोगों ने बिना अनुमति गणपति विसर्जन का जुलूस निकाला। कोतवाली पुलिस ने आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत लोधमण्डी ज्वालापुर निवासी बिट्टू सागर पुत्र श्यामलाल व 10-15 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

कार्यकारिणी घोषित होते ही कांग्रेस में बगावत, इस विधायक ने दी पार्टी छोड़ने की धमकी, पार्टी पद से इस्तीफा

देहरादून। प्रदेश कांग्रेस की बहुप्रतीक्षित कार्यकारिणी घोषित होते ही कांग्रेस में बगावत शुरू हो गयी है। धारचूला विधायक हरीश धामी ने सचिव बनाये जाने पर इसे खुद का अपमान बताते हुए जल्द ही पार्टी छोड़ने की घोषणा कर दी है। उधर कई दिग्गज नेता कार्यकारिणी को असंतुलित बता सोशल मीडिया पर अपनी नाराजगी जता रहे हैं।

हरिद्वार कांग्रेस में बवाल, जिले के दिग्गज कांग्रेसियों ने बुलाई आपात बैठक

हरिद्वार (यश पाल)। प्रदेश कांग्रेस की कार्यकारिणी घोषित होने के बाद पार्टी में बवाल थमने का नाम नही ले रहा है। धारचूला से विधायक हरीश धामी की सुलगाई चिंगारी से उपजी लपटे अब हरिद्वार पहुंचती दिखाई दे रही हैं। कार्यकारिणी में शामिल नही किये गए ज़िले के 5 दर्ज़न दिग्गज शनिवार को एक बैठक करने जा रहे हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हरिद्वार के अधिकांश कांग्रेसी प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के खासमखास समझे जाने वाले एक पूर्व दर्जाधारी से खासे खफा है। बताया जा रहा है कि उक्त कांग्रेसी ने जनपद में पार्टी को अपना जेबी संगठन बना लिया है। इससे पार्टी के कार्यकर्ताओं में असंतोष बढ़ता जा रहा है। एक नेता ने नाम न छापने की शर्त पर बताया की बार बार प्रदेश नेतृत्व से शिकायत के बावज़ूद कार्यकर्त्ताओं की अनदेखी की जा रही है। इसीलिए आगे की रणनीति बनाने के लिए कल दोपहर को जिला पंचायत के एक बड़े नेता के घर बैठक रखी गयी है। बहरहाल जनपद में पार्टी की क्या स्थिति रहेगी ये तो आने वाला वक्त ही बतायेगा लेकिन इतना तय है की प्रीतम गुट पर इस वक़्त खतरे के बादल मंडरा रहे हैं।

राज्य में 535 और कोरोना संक्रमित, कहाँ मिले कितने मरीज़-पढ़ें

राज्य में कोरोना के 535 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद कुल संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 16569 तक पहुंच गया है। इसके अलावा राज्य के विभिन्न अस्पतालों में छह कोरोना मरीजों की मौत भी हुई है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार आज नए मिले मामलों में बागेश्वर जिले के 13, चमोली के 22, चंपावत के 20, देहरादून के 170, हरिद्वार के 80, नैनीताल के 81, पौड़ी के 25, पिथौरागढ़ के 7, रुद्रप्रयाग के 2, टिहरी के 36, उधमसिंह नगर के 64 तथा उत्तरकाशी जिले के 15 मरीज शामिल हैं। वहीं राज्य में जिन 6 लोगों की मौत हुई है उनमें चार की मौत एम्स ऋषिकेश में तथा दो की डॉ सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी में हुई है।इसके अलावा राज्य से अब तक जांच हेतु लिए गए सैंपल में से 14882 लोगों की रिपोर्ट आनी बाकी है। अच्छी बात यह है कि इलाज के बाद आज 323 कोरोना मरीज स्वस्थ होकर अस्पताल से डिस्चार्ज भी हुए हैं।

दो लोगों को मिला एक ही एकाउंट नंबर, एक ने पैसे डाले-दूसरे ने निकाले, सोचा शायद मोदी ने भेजें हैं

भोपाल। मध्य प्रदेश के भिंड जिले के रुरई गांव के हुकम सिंह व रोनी गांव के हुकम सिंह ने एसबीआई की आलमपुर शाखा में खाता खोला था। दोनो के एक ही नाम होने के कारण बैंक ने गलती से दोनों को एक ही एकाउंट नंबर दे दिया।  रुरई गांव वाले हुकम सिंह रोजगार की तलाश में हरियाणा चले गए। वो वहाँ पैसा कमाकर अपने खाते में जमा करते रहे। उधर रोनी गांव वाले हुकम सिंह उसी खाते से ये सोचकर पैसा निकालते रहे कि शायद किसी सरकारी योजना के तहत मोदी ने पैसा भेजा है। छः महीने बाद जब रुरई वाले हुकम सिंह अपने गांव वापस आये तो अपनी पासबुक में एंट्री कराने बैंक गए। खाते का बैलेंस जानकर उनके होश उड़ गए। उनके एकाउंट में 1,40,000 रुपये की जगह सिर्फ 35,000 रुपये शेष थे। बैंक मैनेजर से शिकायत करने पर जांच हुई, तब सारा माजरा समझ में आया की खाते से रकम दूसरे हुकम सिंह ने निकाली है।